General

2 line shayari on beti

2 line shayari on beti
Written by legend.robert

 अगर आप भी बाप है या मा है  और आपकी भी कोई बेटी है और आप भी उसके लिए कुछ शायरियां ढूंढ रहे हैं आप शायरी पढ़ कर अच्छा फील करना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आप लास्ट तक पढ़ना यकीन मानो आपको बहुत अच्छा फील होगा इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद इस आर्टिकल में हमने आपको कुछ चुनिंदा शायरी दी है तो आप इस आर्टिकल को लास्ट तक पढ़ सकते हैं बाकी आप इसकी इमेजेस को भी डाउनलोड कर सकते हैं और अपनी सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं

बेटियों को बचा के रखिए ‘कँवल’

इन को पाने में वक़्त लगता है

Betiyu ko bacha ke rakhye kabl

Inko paane me waqt Lagta hai


उड़के एक रोज़ बड़ी दूर चली जाती हैं

बेटी घर की शाख़ों पे चिड़ियों की तरह होती हैं

Udke ek Roz badi door chali jaati hai

Beti Ghar ki sankho pe khicdiyu ki terha Hoti hai

जरूरी नही रौशनी चिरागों से ही हो,

बेटियाँ भी घर में उजाला करती हैं…

Jaroori Nahi roshni chiraago se hi ho

Betiya bhi Ghar me ujaala Karti hai

तेरे लिए ही मां मैं जन्नत से आई हूं,

सच तो ये है माँ मैं तेरी ही परछाई हूं।

Tere liye hi MAA mei jannat se aayi hoon

Sach to ye hai meri maa Teri hi parchai hoon

जरूरी नही रौशनी चिरागों से ही हो,

बेटियाँ भी घर में उजाला करती हैं।

Zaroori nhi roshni chiraago se hi ho

Betiya bhi Ghar me ujaala Karti hai


तू अगर बेटियाँ नहीं लिखता,

तो समझ खिड़कियाँ नहीं लिखता।

Tu age betiya Nahi likhta

To samjh khidkiya Nahi likhta

रो रहे थे सब तो मैं भी फूट कर रोने लगा,

वरना मुझको बेटियों की रुख़सती अच्छी लगी।

To Rahe the sab to mei bhi foot Kar rone laga

Warna mujhko betiyu ki rukhsati Achi Lagi

ऐसा लगता है कि जैसे ख़त्म मेला हो गया,

उड़ गईं आँगन से चिड़ियाँ घर अकेला हो गया।

Aisa Lagta hai ki jise khatam Mela ho Gaya hai

Ud gayi aagan se chidya Ghar akeel ho Gaya hai

घर में रहते हुए ग़ैरों की तरह होती हैं,

बेटियाँ धान के पौधों की तरह होती हैं।

Ghar mei rehte hue garo ki terha Hoti hai

Betiya dhaan ke podho ki terha Hoti hai

रोशन करेगा बेटा तो बस एक ही कुल को,

दो दो कुलों की लाज होती है बेटियाँ।

Roshan karega beta to bas Ek hi kul ko

Do do kulo ki laaj Hoti hai betiya

beti status

बेटी भार नहीं, है आधार जीवन है उसका अधिकार

शिक्षा है उसका हथियार, बढ़ाओ कदम करो स्वीकार।

betee bhaar nahin, hai aadhaar jeevan hai usaka adhikaar 

shiksha hai usaka hathiyaar, badhao kadam karo sveekaar.

किस्मत वाले हैं वो लोग जिन्हें बेटियां नसीब होती हैं

ये सच है कि उन लोगों को रब की मोहब्बत नसीब होती है।

kismat vaale hain vo log jinhen betiyaan naseeb hotee hain

 ye sach hai ki un logon ko rab kee mohabbat naseeb hotee hai.

तो फिर जाकर कहीँ माँ- बाप को कुछ चैन पड़ता है,

कि जब ससुराल से घर आ के बेटी मुस्कुराती है

to phir jaakar kaheen maan- baap ko kuchh chain padata hai,

ki jab sasuraal se ghar aa ke betee muskuraatee hai

रो रहे थे सब तो मैं भी फूट कर रोने लगा,

वरना मुझको बेटियों की रुख़सती अच्छी लगी।

ro rahe the sab to main bhee phoot kar rone laga, 

varana mujhako betiyon kee rukhasatee achchhee lagee.

बेटी बचाओ और जीवन सजाओ,

बेटी पढ़ाओ और ख़ुशहाली बढ़ाओ।

betee bachao aur jeevan sajao, 

betee padhao aur khushahaalee badhao.

बेटी भार नहीं, है आधार जीवन है उसका अधिकार

शिक्षा है उसका हथियार, बढ़ाओ कदम करो स्वीकार।

betee bhaar nahin, hai aadhaar jeevan hai usaka adhikaar 

shiksha hai usaka hathiyaar, badhao kadam karo sveekaar.

किस्मत वाले हैं वो लोग जिन्हें बेटियां नसीब होती हैं

ये सच है कि उन लोगों को रब की मोहब्बत नसीब होती है।

kismat vaale hain vo log jinhen betiyaan naseeb hotee hain

 ye sach hai ki un logon ko rab kee mohabbat naseeb hotee hai.

तो फिर जाकर कहीँ माँ- बाप को कुछ चैन पड़ता है,

कि जब ससुराल से घर आ के बेटी मुस्कुराती है

to phir jaakar kaheen maan- baap ko kuchh chain padata hai,

ki jab sasuraal se ghar aa ke betee muskuraatee hai

रो रहे थे सब तो मैं भी फूट कर रोने लगा,

वरना मुझको बेटियों की रुख़सती अच्छी लगी।

ro rahe the sab to main bhee phoot kar rone laga, 

varana mujhako betiyon kee rukhasatee achchhee lagee.

बेटी बचाओ और जीवन सजाओ,

बेटी पढ़ाओ और ख़ुशहाली बढ़ाओ।

betee bachao aur jeevan sajao, 

betee padhao aur khushahaalee badhao.

About the author

legend.robert

Leave a Comment