General

adhuri khwahish shayari in hindi

adhuri khwahish shayari in hindi
Written by legend.robert

 adhuri khwahish shayari in hindi

कुछ अधूरी ख्वाहिश अगर आप भी इस टॉपिक पर सर्च कर रहे हैं कुछ शायरियां तो ये आर्टिकल आज आपके लिए काफी खास होने वाला है । आज के इस आर्टिकल में हम आपको एक काफी शानदार गजल दे रहे हैं अधूरी ख्वाहिशों के ऊपर जो कि आपको कहीं नहीं मिलेगी । आपने इस आर्टिकल को लास्ट तक जरूर देखना । 

हेल्लो दोस्तों कैसे हैं आप सभी लोग उम्मीद करता हूं आप सभी लोग खैरियत से होंगे आज के इस आर्टिकल में आप सभी के लिए लेकर आ गया हूं काफी ज्यादा अच्छी ख्वाहिश के ऊपर कोई भी तो आप सब लोग भी यही सर्च कर रहे हैं आप इस आर्टिकल को लास्ट तक पढ़े और इस आर्टिकल को अपने दोस्तों में जरूर शेयर करे। 


Kuch Adhuri Khawahishon Ka Silsila Hai Zindagi

Manzilon Se Aik Musalsal Faasala Hai Zindagi

Mere Darwaze Pe Dastak De K Chup Jane Ka Khel

Kab Talak Khelegi Ye Kya Bachpana Hai Zindagi

Tere Afsaane To Me Sunta Raha Hun Bar-haa

Naam Kya Tu Ne Kabhi Mera Suna Hai Zindagi

Barbaad Hum Ko Hona Tha Barbad Hum Hue

Duniya Hai Saari Naik Salakhon Si Zindagi

Qaatil The Jitne Mere Sabhi Ho Gaye Baree

Aur Chup Khari Thi Chashmdeed Gawahon Si Zindagi

कुछ अधूरी ख्वाहिशों का सिलसिला है जिंदगी 

मंजिलों से एक मुसलसल फैसला है जिंदगी

मेरे दरवाजे पर दस्तक देकर चुप जाने का खेल

कब तक खेलेगी यह बचपना है जिंदगी

अफसाने तो मैं सुनता रहा हूं बार_हा 

नाम क्या तूने कभी मेरा सुना है जिंदगी

बर्बाद हमको होना था बर्बाद हम हुए

दुनिया है सारी नेक सलाखों सी जिंदगी

कातिल थे जितने मेरे सभी हो गए बड़े

और चुप खड़ी थी चश्मदीद गवाहों से ज़िन्दगी


About the author

legend.robert

Leave a Comment