General

सनातन धर्म के नियम क्या है

Snatan-dharm-ke-niyam-kya-h-arth-sansthapak (1)
Written by legend.robert

सनातन धर्म के नियम क्या है | सनातन धर्म क्या है / सनातन धर्म का अर्थ क्या है – जो लोग सनातन धर्म को मानते है. वह पूजा-पाठ को अधिक महत्व देते है. हिंदू धर्म के लोगो के दिन की शुरुआत पूजा-पाठ करने से ही होती हैं. स्नान आदि करने के बाद सनातन धर्म को पालने वाले लोग सबसे पहले देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना करते हैं.

इसके पश्चात अपने दैनिक कार्य करते हैं. हिंदू सनातन धर्म में पूजा-पाठ से जुड़े कुछ नियम है. जिसका पालन सनातन धर्म को मानने वाले लोगो को करना चाहिए. अगर आप सनातन धर्म के नियम जानना चाहते हैं. तो हमारा यह आर्टिकल पूरा पढ़े.

Snatan-dharm-ke-niyam-kya-h-arth-sansthapak (1)

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से सनातन धर्म के नियम बताने वाले हैं. इसके अलावा सनातन धर्म से जुड़ी अन्य और भी जानकारियां प्रदान करने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

कलश का गिरना शुभ या अशुभ / घर में कलश स्थापना कैसे करें

सनातन धर्म के नियम

सनातन धर्म के कुछ नियम हमने नीचे दिए है.

सनातन धर्म में मंदिर और पूजा के नियम

अगर आपको आपका रिश्तेदार या परिचित मंदिर में मिल जाता हैं. तो मंदिर में उनके चरण स्पर्श नहीं करने चाहिए. मंदिर में सिर्फ गुरु के चरण स्पर्श कर सकते हैं.

कर्ज मुक्ति रामबाण उपाय | गणेश जी, सूर्यदेवता पूजा कर्ज मुक्ति का रामबाण उपाय

जब भी आप पूजा करने बैठे तो मंत्र जाप के दौरान जीभ और होठ को नहीं हिलाना चाहिए. जाप करते समय अगर आप माला का प्रयोग करते है. तो गौमुखी या कपडे से माला को ढककर जाप करना चाहिए.

सनातन धर्म में दो हाथो से प्रणाम करने का नियम

सनातन धर्म में इस बात का ध्यान रखे की किसी भी व्यक्ति को अगर प्रणाम करे. तो एक हाथ से नहीं बल्कि दोनों हाथ से प्रणाम करना चाहिए. अगर कोई व्यक्ति सोया हुआ है. तो उनके चरण स्पर्श नहीं करने चाहिए.

मेहंदीपुर बालाजी के नियम मेहंदीपुर बालाजी अर्जी लगाने का तरीका

एक इस बात का भी ध्यान रखे जब भी आप किसी बड़े के चरण स्पर्श करे. तो उनके दाहिने पैर को दाहिने हाथ से और बाएं पैर को बाएं हाथ से छुकर ही प्रणाम करे.

सनातन धर्म में तुलसी को इस दिन तोड़े

सनातन धर्म का पालन करने वाले तुलसी का पौधा उनके आंगन में लगाते हैं. सनातन धर्म में बीना स्नान किए तुलसी को छूना मनाई हैं. तथा द्रादशी, संक्रान्ति, रविवार, पूर्णिमा, अमावस्या तथा संध्या काल तुलसी का पत्ता तोडना मनाई हैं.

अपराजिता का फूल किस भगवान को चढ़ता है / सफेद फूल की अपराजिता के फायदे

सनातन धर्म में दीपक से दीपक नहीं जलाते है

जब भी आप मंदिर जाए या अपने घर में पूजा आदि कर रहे है. तो दीपक से दीपक नहीं जलाना चाहिए.

Snatan-dharm-ke-niyam-kya-h-arth-sansthapak (3)

सनातन धर्म में महिलाओं को यह फल खुद नही काटना चाहिए

सनातन धर्म में पेठा, कद्दू, नारियल तथा साबुत फल महिलाओं को अपने हाथ से नहीं काटने चाहिए. ऐसा माना जाता है की इन फलो को काटने से पुत्र की आयु कम हो जाती हैं.

पूजा कब नहीं करनी चाहिए | सुबह कितने बजे उठकर पूजा करनी चाहिए

सनातन धर्म क्या है / सनातन धर्म का अर्थ क्या है

सनातन धर्म सभी धर्मो में सबसे पुराना धर्म माना जाता है. सनातन धर्म में देवी-देवताओं की निराकार और साकार दोनों रूपों में पूजा की जाती हैं. यह धर्म वेदों के ऊपर आधारित हैं.

सनातन धर्म को मानने वाले अनुयायिओं की संख्या बहुत अधिक है. इसलिए यह विश्व का तीसरा सबसे बड़ा धर्म हैं. सनातन धर्म का पालन करने वाले अधिकतर लोग भारत में और नेपाल में है.

कुलदेवी की खोज कैसे करे | कुलदेवी की स्थापना और प्रसन्न कैसे करे

सनातन का अर्थ शाश्वत होता हैं. इसका अर्थ है की “हमेशा बना रहने वाला” तथा “जिसका कोई आदि है ना अंत हैं”.

सनातन धर्म के संस्थापक कौन थे

सनातन धर्म की स्थापना किसी व्यक्ति या मनुष्य ने नहीं की हैं. यह धर्म तो स्वयं भगवान ब्रह्म के द्वारा पृथ्वी पर रहने वाले मनुष्य के कल्याण के लिए पृथ्वी पर लाया गया हैं.

कर्ज मुक्ति रामबाण उपाय | गणेश जी, सूर्यदेवता पूजा कर्ज मुक्ति का रामबाण उपाय

सनातन धर्म की मानव जीवन में क्या भूमिका है

सनातन धर्म में प्रेम, सम्मान, दया आदि के बारे में बताया गया हैं. जो मानव जीवन को जीवन जीने का तरीका सिखाते हैं. सनातन धर्म में मानवता की रक्षा पर अधिक जोर दिया गया हैं. तथा अपने राज्य की और धर्म की रक्षा के लिए मनुष्य को बलिदान देना पड़े तो हंसते हुए मनुष्य को बलिदान देना चाहिए.

घर के मंदिर में माचिस क्यों नहीं रखनी चाहिए | पूजा घर में कितनी फोटो रखनी चाहिए

सनातन धर्म और हिंदू धर्म में क्या अंतर है

सनातन धर्म को ही आज हिंदू धर्म बोला जाता हैं. इसलिए सनातन धर्म और हिंदू धर्म में कोई अंतर नहीं हैं. धर्म एक ही है सिर्फ दो नाम से जाना जाता हैं. हिंदू धर्म का पालन करने वाला ही सनातन धर्म का पालन करता हैं.

Snatan-dharm-ke-niyam-kya-h-arth-sansthapak (2)

Shree ram raksha stotra in hindi mein lyrics PDF Download free

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से सनातन धर्म के नियम बताए हैं. इसके अलावा सनातन धर्म से जुड़ी अन्य जानकारी भी प्रदान की है. हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह सनातन धर्म के नियम / सनातन धर्म का अर्थ क्या है आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

Hanuman chalisa hindi me likha hua / likhit main PDF download

अंकोरवाट मंदिर का रहस्य और रोचक तथ्य क्या है / अंकोरवाट का मंदिर किस देश में है

gopal sahastranaam benefits in hindi / गोपाल सहस्त्रनाम स्त्रोत्र का पाठ करने की विधि

About the author

legend.robert

Leave a Comment