General

तेल का दीपक जलाने के लाभ / दीपक जलाने के नियम –

Tel-ka-Dipak-jlane-ke-labh-niyam-chameli-fayde (1)
Written by legend.robert

तेल का दीपक जलाने के लाभ / दीपक जलाने के नियम – हिंदू धर्म में कोई भी शुभ कार्य करने से पहले या फिर देवी-देवताओं की पूजा करने के दौरान दीपक जलाया जाता हैं. हिंदू धर्म में बीना दीपक के पूजा अधूरी मानी जाती हैं.  ऐसा भी माना जाता है. की पूजा के दौरान दीपक जलाने से देवी-देवता हमारे साथ प्रकाश के रूप में मौजूद रहते हैं.

आमतौर पर घी या तेल का दीपक जलाने की परंपरा है. अधिकतर लोग घी का दीपक ही जलाते है. लेकिन कुछ अवसर पर तेल का दीपक जलाया जाता हैं. जैसे की दीवाली के पर्व पर तेल का दीपक जलाया जाता हैं.

Tel-ka-Dipak-jlane-ke-labh-niyam-chameli-fayde (1)

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से तेल का दीपक जलाने के लाभ बताने वाले हैं. तथा दीपक जलाने के नियम और इस टॉपिक से संबंधित अन्य और भी जानकारी प्रदान करेगे.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

पूजा सफल होने के संकेत क्या होते है

तेल का दीपक जलाने के लाभ

आमतौर पर हिंदू धर्म में घी या तेल का दीपक जलाया जाता हैं. ऐसा माना जाता हैं. की घी का दीपक जलाने से इसकी पवित्रता स्वर्ग लोक जाती हैं. लेकिन तेल का दीपक जलाने के भी कुछ विशेष लाभ है. जो हमने नीचे बताए हैं.

  • शनिदेव को तेल का दीपक जलाने से शनिदेव प्रसन्न हो जाते हैं. और हमारी सभी मनोकामना पूर्ण करते हैं.
  • शनिदेव की कृपा बनाए रखने के लिए तथा शनि ग्रह के प्रकोप से बचने के लिए शनिवार के दिन शनि मंदिर जाकर शनिदेवता को तेल का दीपक जलाना चाहिए.
  • हनुमानजी को तेल का दीपक जलाने से हनुमानजी प्रसन्न हो जाते हैं. और उनकी कृपा हमेशा के लिए हमारे पर बनी रहती हैं.
  • सूर्य देवता की पूजा करने के दौरान तेल का दीपक जलाने से उनकी कृपा हम पर बनी रहती हैं.

पीपल का पेड़ किस दिन लगाना चाहिए / पीपल का पेड़ लगाने के लाभ

दीपक जलाने के नियम

दीपक जलाने के कुछ नियम निम्नलिखित है:

  • दीपक हमेशा सुबह 5 से 10 बजे के दौरान जलाए. तथा शामको 5 से 7 बजे के दौरान ही जलाए. दीपक जलाने के लिए यह शुभ समय माना जाता है.
  • दीपक जलाते समय यह बात का विशेष ध्यान रखे की खंडित दीपक नहीं होना चाहिए. खंडित दीपक करना अशुभ माना जाता हैं.
  • अगर आप घी का दीपक जलाने जा रहे है. तो रुई का बत्ती का प्रयोग करे. तथा तेल का दीपक जला रहे है. तो लाल धागे की बत्ती का प्रयोग करे.
  • घर के मुख्य द्वार पर दीपक जलाना शुभ माना जाता हैं.
  • दीपक जलाते समय यह ध्यान रखे की भगवान की प्रतिमा के सामने ही दीपक जलाए. कुछ लोग दीपक कही पर भी जला देते हैं. जो की गलत माना जाता हैं.

Tel-ka-Dipak-jlane-ke-labh-niyam-chameli-fayde (2)

शमी का पौधा घर में कहां लगाएं | शमी का पेड़ घर के अंदर लगाना चाहिए

चमेली के तेल का दीपक जलाने के फायदे

हनुमानजी को चमेली का तेल अतिप्रिय होता हैं. शनिवार के दिन हनुमानजी मंदिर जाकर सिंदूर और चमेली का तेल अर्पित करने से हनुमानजी प्रसन्न हो जाते हैं. कुछ लोग चमेली के तेल का दीपक जला देते हैं. लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए यह अशुभ माना जाता हैं.

माथे पर हल्दी का तिलक लगाने के फायदे / नाभि पर हल्दी का तिलक लगाने के फायदे

चमेली के तेल का दीपक जलाने की बजाय चमेली का तेल हनुमानजी के चरणों में अर्पित करने से फायदा होता हैं.

तिल के तेल का दीपक किस दिन लगाना चाहिए

तिल के तेल का दीपक शनिवार के दिन लगाना अतिशुभ माना जाता हैं.

घर में किस चीज का दीपक जलाना चाहिए

आप घर में घी या तेल का दीपक जला सकते हैं. लेकिन यह ध्यान रखे की घी का दीपक जलाने पर रुई की बत्ती का प्रयोग करना चाहिए. तथा तेल का दीपक जलाने पर लाल धागे की बत्ती का प्रयोग करना चाहिए.

मूल शांति पूजन सामग्री लिस्ट इन हिंदी | मूल नक्षत्र कौन कौन से हैं | मूल नक्षत्र कैसे जाने

घर के मंदिर में कितने दीपक जलाने चाहिए

घर के मंदिर में वैसे तो एक दीपक जलाया जाए तो पर्याप्त हैं. लेकिन आप एक से अधिक दीपक जलाना चाहते हैं. तो आप अपनी इच्छा अनुसार दीपक जला सकते हैं.

Tel-ka-Dipak-jlane-ke-labh-niyam-chameli-fayde (3)

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से तेल का दीपक जलाने के लाभ बताए हैं. तथा इस टॉपिक से संबंधित अन्य और भी जानकारियां प्रदान की हैं. हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ है तो आगे जरुर शेयर करे.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह तेल का दीपक जलाने के लाभ / दीपक जलाने के नियम आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

हाय से बचने के उपाय | हाय लगने के बाद निवारण के उपाय

कलश का गिरना शुभ या अशुभ / घर में कलश स्थापना कैसे करें

पूजा कब नहीं करनी चाहिए | सुबह कितने बजे उठकर पूजा करनी चाहिए

About the author

legend.robert

Leave a Comment